Breaking News

राजधानी लखनऊ नगर निगम में नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. विजय कुमार को काम में लापरवाही बरतने पर चार्ज छीन लिया गया है।

नगर निगम में नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. विजय कुमार को काम में लापरवाही बरतने पर चार्ज छीन लिया गया है। उन पर आरोप है कि बरसात से पहले नाली सफाई के काम को गंभीरता से नहीं लिया। वार्ड में निरीक्षण की जगह अपने ऑफिस में बैठे रहते थे।

जबकि 30 जून को डॉ. विजय कुमार अपने मूल कैडर से रिटायर हो चुके थे। इसके बाद भी एनएसए के पद पर तैनात थे। पार्षदों ने नगर आयुक्त से एनएसए के फील्ड में न जाने और जनसुनवाई नहीं करने की शिकायत की थी। इसके बाद उन्हें कार्यमुक्त कर दिया गया। एनएसए का चार्ज अपर नगर आयुक्त ललित कुमार को सौंपा गया है।

10 महीने में दो डॉक्टरों को मिली जिम्मेदारी

31 अगस्त 2023 को तत्कालीन एनएसए डॉ सुनील कुमार रावत के रिटायर होने के बाद अब तक दो डॉक्टर इस पद पर कार्यरत हो चुके हैं। लेकिन 10 महीने के भीतर दोनों एनएसए को काम में दिलचस्पी न दिखाने पर हटाया गया है। इससे पहले 31 मार्च को तत्कालीन एनएसन डॉ. योगेश कुमार को हटाकर डॉ. विजय कुमार की तैनाती हुई थी।

लेकिन दोनों पर काम में लापरवाही बरतने का आरोप है। बता दें, नगर निगम में एनएसए का पद स्वास्थ्य विभाग के किसी सीनियर डॉक्टर को दिया जाता है। इनकी तैनाती प्रतिनियुक्ति पर नगर निगम में होती है। अब स्वास्थ्य विभाग से नए एनएसए के लिए पत्र लिखा जाएगा।

नगर निगम में नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. विजय कुमार को काम में लापरवाही बरतने पर चार्ज छीन लिया गया है। उन पर आरोप है कि बरसात से पहले नाली सफाई के काम को गंभीरता से नहीं लिया। वार्ड में निरीक्षण की जगह अपने ऑफिस में बैठे रहते थे।

जबकि 30 जून को डॉ. विजय कुमार अपने मूल कैडर से रिटायर हो चुके थे। इसके बाद भी एनएसए के पद पर तैनात थे। पार्षदों ने नगर आयुक्त से एनएसए के फील्ड में न जाने और जनसुनवाई नहीं करने की शिकायत की थी। इसके बाद उन्हें कार्यमुक्त कर दिया गया। एनएसए का चार्ज अपर नगर आयुक्त ललित कुमार को सौंपा गया है।

10 महीने में दो डॉक्टरों को मिली जिम्मेदारी

31 अगस्त 2023 को तत्कालीन एनएसए डॉ सुनील कुमार रावत के रिटायर होने के बाद अब तक दो डॉक्टर इस पद पर कार्यरत हो चुके हैं। लेकिन 10 महीने के भीतर दोनों एनएसए को काम में दिलचस्पी न दिखाने पर हटाया गया है। इससे पहले 31 मार्च को तत्कालीन एनएसन डॉ. योगेश कुमार को हटाकर डॉ. विजय कुमार की तैनाती हुई थी।

लेकिन दोनों पर काम में लापरवाही बरतने का आरोप है। बता दें, नगर निगम में एनएसए का पद स्वास्थ्य विभाग के किसी सीनियर डॉक्टर को दिया जाता है। इनकी तैनाती प्रतिनियुक्ति पर नगर निगम में होती है। अब स्वास्थ्य विभाग से नए एनएसए के लिए पत्र लिखा जाएगा।

About admin

Check Also

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा- भाजपा की कुर्सी की लड़ाई की गर्मी में उप्र में शासन-प्रशासन ठंडे बस्ते में चला गया है।

यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने मंगलवार की शाम दिल्ली में भारतीय जनता …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *