Breaking News

ईडी ने बुधवार को रीयल एस्टेट का कारोबार करने वाली कंपनी तुलसियानी ग्रुप के कई ठिकानों पर छापा मारा है।

ईडी ने बुधवार को रीयल एस्टेट का कारोबार करने वाली कंपनी तुलसियानी ग्रुप के कई ठिकानों पर छापा मारा है। ईडी की टीमें लखनऊ के पत्रकारपुरम के सहारा स्टेट मार्केट में इस समय तुलसियानी ग्रुप के आफिस में मौजूद है। टीम यहां पर सुबह में ही पहुंच गई थी। इस कंपनी में भाजपा के हरैया विधायक अजय सिंह की पाटर्नरशिप है।

मामला सामने आने के बाद उन्होंने पूरे घटनाक्रम पर अपनी सफाई दी है। उनका कहना है कि उनके यहां पहले भी छापा पड़ चुका है लेकिन जांच में कुछ भी नहीं निकला। वह आगे भी किसी भी तरह की जांच के लिए तैयार हैं। विपक्ष लगातार सवाल खड़े करता है कि भाजपा सरकार में ईडी केवल विपक्ष के नेताओं के यहां छापे मारती है। उनका ये आरोप झूठा साबित हुआ है। जांच एजेंसियां अपना काम कर रही है। मैं उनका सहयोग करूंगा।

ये तस्वीर पत्रकारपुरम के सहारा स्टेट मार्केट में तुलसियानी ग्रुप पर जांच करने पहुंची इडी की टीम की है।
ये तस्वीर पत्रकारपुरम के सहारा स्टेट मार्केट में तुलसियानी ग्रुप पर जांच करने पहुंची इडी की टीम की है।

शाहरुख खान की पत्नी गौरी खान तुलसियानी ग्रुप की ब्रांड एंबेसडर रह चुकी हैं

प्रयागराज, नोएडा, दिल्ली और गुरुग्राम में भी ईडी की टीम छानबीन कर रही हैं। कंपनी पर बैंक और निवेशकों की करोड़ों रुपए की रकम हड़पने का आरोप है। बीते दिसंबर माह में ईडी ने कंपनी के खिलाफ मनी लांड्रिंग एक्ट में केस दर्ज कर जांच शुरू की थी। मशहूर फिल्म अभिनेता शाहरुख खान की पत्नी गौरी खान तुलसियानी ग्रुप की ब्रांड एंबेसडर रह चुकी हैं।

हरैया विधायक अजय सिंह का कहना है, जांच एजेंसियां अपना काम कर रही है। मैं जांच में उनका सहयोग करूंगा।
हरैया विधायक अजय सिंह का कहना है, जांच एजेंसियां अपना काम कर रही है। मैं जांच में उनका सहयोग करूंगा।

बैंक मैनेजर ने दर्ज कराई थी रिपोर्ट

निवेशकों द्वारा दर्ज कराए गए मुकदमों के आधार पर ईडी ने जांच शुरू की थी। कंपनी ने फर्जी दस्तावेज जमाकर पीएनबी से 4.63 करोड़ रुपए कर्ज लिया था। जब बैंक ने कर्ज वसूली के लिए पत्राचार किया तो बिल्डर ने कोई जवाब नहीं दिया। बैंक मैनेजर की शिकायत पर तुलसियानी ग्रुप के निदेशक महेश तुलसियानी, अनिल कुमार तुलसियानी और पूर्व निदेशकों पर हजरतगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया गया था। वहीं, निवेशकों के करोड़ों रुपए हड़पने के आरोप में लखनऊ पुलिस ने अजय तुलसियानी और अनिल कुमार तुलसियानी को गिरफ्तार किया था। ईडी की प्रारंभिक पड़ताल में निवेशकों और बैंक की 30 करोड़ से अधिक रकम हड़पने की पुष्टि होने के बाद सुबूत जुटाने के लिए बुधवार को छापे मारे गए हैं।

प्रयागराज, नोएडा, दिल्ली और गुरुग्राम में भी ईडी की टीम छानबीन कर रही हैं। कंपनी पर बैंक और निवेशकों की करोड़ों रुपए की रकम हड़पने का आरोप है।
प्रयागराज, नोएडा, दिल्ली और गुरुग्राम में भी ईडी की टीम छानबीन कर रही हैं। कंपनी पर बैंक और निवेशकों की करोड़ों रुपए की रकम हड़पने का आरोप है।

इलेक्ट्रॉनिक दस्तावेज खंगाले

तुलसियानी ग्रुप के दफ्तर में में ईडी की टीम ने इलेक्ट्रॉनिक दस्तावेज खंगाल रही है। रियल एस्टेट कंपनी के बोर्ड में कई बिल्डर प्रोजक्ट के बारे में भी जानकारी दी गई है। जिस वक्त ईडी की टीम यहां पर पहुंची थी। गेट बंद था। इसके बाद ताला तोड़कर ईडी के अधिकारी जांच करने के लिए अंदर गए। मौके पर टीम के साथ में पुलिस और आरपीएफ के जवान भी मौजूद हैं।

अपार्टमेंट नहीं मिलने पर दर्ज हुआ मुकदमा

बिल्डर तुलसियानी लोगों को आकर्षक स्कीम के जरिए अपार्टमेंट देने का वादा कर उनसे पैसे जमा करा रहा था, जबकि उसके पास जमीन का एक टुकड़ा भी नहीं था, अपार्टमेंट तो दूर की बात है। कंपनी के निदेशकों ने राजधानी के अंसल स्थित सुशांत गोल्फ सिटी में अपार्टमेंट बनाने के नाम पर रकम जमा कराई। पिछले पांच वर्षों में, दर्जनों निवेशकों ने अपार्टमेंट नहीं खरीदने के लिए तुलसियानी बिल्डर के खिलाफ मुकदमा दायर किया है। बाद में बिल्डर ने सुशांत गोल्फ सिटी में अपार्टमेंट बनाए लेकिन निवेशकों को कब्जा सौंपने में देरी की। रेरा में दर्ज शिकायत के बाद तीन अपार्टमेंट जब्त कर लिए गए

About admin

Check Also

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बैंच ने जनहित याचिका पर सुनवाई के बाद एक अपार्टमेंट व एक होटल के अवैध निर्माण ?

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बैंच ने जनहित याचिका पर सुनवाई के बाद एक अपार्टमेंट व …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *