Breaking News

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी बोले- हाथरस की घटना हादसा या साजिश, तह तक होगी जांच

योगी बोले- हाथरस की घटना हादसा या साजिश, तह तक होगी जांच

 

सीएम योगी ने कहा कि राज्य सरकार हाथरस की घटना की पूरी तह में जाएगी। यह हादसा है कि साजिश है। इसकी भी जांच कराई जाएगी। इस प्रकार की घटना पर पीड़ितों के लिए संवेदना व्यक्त करने के बजाय राजनीति करना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण और निंदनीय है।

कम पड़े संसाधन, लोडर में भरकर CHC पहुंचाए गए लोग

हादसे के बाद हालात भयावह थे। घायलों और मृतकों की संख्या इतनी अधिक थी कि एंबुलेंस कम पड़ गए। जो भी गाड़ी मिली, उसी में लादकर लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया।

14 मृतकों की पहली लिस्ट जारी

हाथरस प्रशासन ने 14 मृतकों की पहली सूची जारी की है। बाकी के शिनाख्त का प्रयास चल रहा है।

यूपी के हाथरस में भोले बाबा के सत्संग के दौरान भगदड़ मच गई। इसमें 122 लोगों की मौत हो गई। 150 से अधिक घायल हैं। कई लोगों की हालत गंभीर है। मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। हादसा हाथरस जिले से 47 किमी दूर फुलरई गांव में हुआ है।

हादसे के बाद हालात भयावह है। अस्पताल के बाहर शव जमीन पर बिखरे पड़े हैं। UPLIVE.NEWS रिपोर्टर ने हाथरस के सिकंद्राराऊ CHC में लाशों को गिना। यहां 95 लाशें बिखरी पड़ी हैं। वहीं, एटा के CMO उमेश त्रिपाठी ने बताया- हाथरस से अब तक 27 शव एटा लाए गए। इनमें 25 महिलाएं और 2 पुरुष हैं। सत्संग में 20 हजार से अधिक लोगों की भीड़ थी।

एक साथ इतनी संख्या में घायल पहुंचे कि अस्पताल के बाहर लोगों को जमीन पर ही लिटाकर इलाज शुरू किया गया।
एक साथ इतनी संख्या में घायल पहुंचे कि अस्पताल के बाहर लोगों को जमीन पर ही लिटाकर इलाज शुरू किया गया।

हादसे के बाद जैसे-तैसे घायलों और मृतकों को बस-टैंपो में लादकर अस्पताल ले जाया गया। CM योगी ने मुख्य सचिव मनोज सिंह और DGP प्रशांत कुमार को घटनास्थल के लिए रवाना कर दिया। घटना की जांच के लिए ADG आगरा और अलीगढ़ कमिश्नर की टीम बनाई की गई है।

भगदड़ क्यों मची?

सत्संग खत्म हो गया था। एक साथ लोग निकल रहे थे। हॉल छोटा था। गेट भी पतला था। पहले निकलने के चक्कर में भगदड़ मच गई। लोग एक-दूसरे पर गिर पड़े। ज्यादातर महिलाएं और बच्चे थे। इस वजह से 150 से अधिक लोग घायल हो गए।

लाइव अपडेट्स

हादसे में मृतकों और घायलों की संख्या इतनी ज्यादा है कि हाथरस के आसपास के जिलों को भी अलर्ट कर दिया है। अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज में पुलिस और प्रशासन की टीम पहुंच गई है। यहां घायलों को शिफ्ट किया जा सकता है। शवों को भी पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा जाएगा।

6 मिनट पहले

भोले बाबा- सरकारी नौकरी छोड़ प्रवचन देना किया शुरू

ये भोलेबाबा की तस्वीर है।
ये भोलेबाबा की तस्वीर है।

भोले बाबा का असली नाम नारायण साकार हरि है। वह एटा जिले की पटयाली तहसील के गांव बहादुर नगरी के रहने वाले हैं। उन्होंने 26 साल पहले सरकारी नौकरी छोड़कर प्रवचन शुरू किया था।

उन्होंने अपने प्रवचन में बताया था कि वे गुप्तचर ब्यूरो में नौकरी करते थे। साकार विश्व हरि भोले बाबा के अनुयायी पश्चिम उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली और उत्तराखंड में ज्यादा हैं।

9 मिनट पहले

मंत्री संदीप बोले- मृतकों की संख्या बढ़ सकती है

उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री संदीप सिंह ने कहा- हमें मुख्यमंत्री द्वारा हाथरस घटना स्थल पर पहुंचने और मामले को देखने और सरकार की ओर से आवश्यक निर्णय लेने के निर्देश दिए गए हैं। मृतकों की संख्या लगातार बढ़ रही है।

9 मिनट पहले

भोले बाबा के कार्यक्रम का पोस्टर

यह उस कार्यक्रम का पोस्टर है, जिसमें भगदड़ मची है। पोस्टर में भोले बाबा उर्फ नारायण साकार हरि की फोटो लगी है। नीचे अयोजन कर्ता के नाम लिखे हैं। पोस्टर में मानव धर्म सत्य था है और रहेगा। इनके अनुयायी ज्यादातर हाथरस और आसपास के जिलों में हैं।

19 मिनट पहले

सीएम योगी ने दो मंत्रियों को भी मौके पर भेजा

CM योगी ने मंत्री लक्ष्मी नारायण, मंत्री संदीप सिंह को मौके पर भेजा है। चीफ सेक्रेटरी मनोज सिंह और डीजीपी प्रशांत कुमार भी मौके के लिए रवाना हो गए हैं। सीएम ने अफसरों को घायलों के समुचित इलाज के निर्देश दिए हैं।

38 मिनट पहले

सरकारी अस्पताल फुल, प्राइवेट रिजर्व किए गए

हादसे के बाद एक साथ इतने घायल पहुंचे कि सरकारी अस्पताल फुल हो गए। सीएचसी के बाहर कुछ लोग तड़पते हुए नजर आए।

हाथरस प्रशासन ने प्राइवेट अस्पतालों को अलर्ट कर दिया है। सभी से बेड रिजर्व रखने को कहा है। घायलों को अब प्राइवेट अस्पताल ले जाया जा रहा है। मौके पर हालात बेकाबू है। हर कोई भीड़ और लाशों के बीच अपनों को तलाश रहा है।

56 मिनट पहले

हादसे की 4 तस्वीरें देखिए

ज्योति बोली- लगा था मर जाऊंगी

प्रत्यक्षदर्शी ज्योति ने बताया- मेरी मम्मी भी हादसे में घायल हुई हैं।
प्रत्यक्षदर्शी ज्योति ने बताया- मेरी मम्मी भी हादसे में घायल हुई हैं।

प्रत्यक्षदर्शी ज्योति ने बताया- हम लोग शांति सत्संग में गए थे। सत्संग खत्म होने के बाद हम लोग निकलने लगे। भीड़ बहुत ज्यादा थी, तभी अचानक भगदड़ मच गई। जिससे कई लोग एक दूसरे पर गिर गए। कई लोगों की जान चली गई। मेरे साथ आए कई लोगों की जान चली गई है। मैं भी दब गई थी। लगा था कि मौत हो जाएगी, लेकिन किसी तरह से बच गई।

सीएम योगी ने दुख जताया

सीएम योगी ने घटना पर दुख जताया है। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को तत्काल मौके पर पहुंच कर राहत कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। साथ ही घायलों के उचित उपचार के भी निर्देश दिए हैं।

सदन में पीएम मोदी ने हाथरस हादसे दुख जताया

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चलते सदन के बीच हाथरस घटना का जिक्र किया। मोदी ने संसद में कहा- यूपी के हाथरस में जो भगदड़ हुई उनमें अनेक लोगों की मौत की दुखद जानकारी मिली। हादसे में मारे गए लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं।

घायलों के जल्द से जल्द ठीक होने की कामना करता हूं। राज्य सरकार की देखरेख में प्रशासन राहत और बचाव कार्य में जुटा है। केंद्र के वरिष्ठ अधिकारी राज्य सरकार के संपर्क में हैं।

मैं सदन के माध्यम से सभी को यह भरोसा देता हूं कि पीड़ितों की हर संभव मदद की जाएगी।

सिकंदराराऊ सीएचसी के बाहर एक पिता अपनी बेटी को तलाश करता पहुंचा हुआ। वहां बेटी की लाश देखी तो वह बिलखकर रो पड़ा। रोते-रोते चिल्ला रहा था कि यह क्या हो गया।

चारों तरफ लाश…रोते-बिलखते परिजन

सिकंदराऊ सीएचसी के बाहर चारों तरफ लाशें बिखरी हुई हैं। बीच में रोते-बिलखते परिजन हैं। हालात इतने भयावह थे किसी को कुछ समझ ही नहीं आ रहा था। लाशों को चादर तक ओढ़ाने की व्यवस्था नहीं थी। परिजन पहले लाशों के बीच अपनों को खोजते रहे, जब नहीं मिले तो वहीं बैठकर रोने लगे।

प्रियंका गांधी बोलीं- पीड़ितों को मुआवजा दिया जाए

 

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने कहा- हाथरस में सत्संग के दौरान भगदड़ की वजह से बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं की मौत और कई के घायल होने का समाचार हृदयविदारक है।

ईश्वर दिवंगत आत्माओं को शांति प्रदान करें। शोक-संतप्त परिजनों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं। घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करती हूं। राज्य सरकार से मेरी अपील है कि पीड़ितों को उचित मुआवजा देने और घायलों के उपचार की व्यवस्था की जाए।

शिवपाल बोले- घटना दुखद और स्तब्धकारी

 

सपा नेता शिवपाल यादव ने कहा- घटना अत्यंत दुखद और स्तब्धकारी है। हर संभव चिकित्सा प्रदान करते हुए प्रशासन राहत कार्य जल्द पूर्ण करे और पीड़ित परिवारों को मुआवजा दे। ईश्वर मृतकों के परिजनों को शक्ति प्रदान करें।

ओवैसी बोले- सरकार लोगों की सुरक्षा नहीं कर पाई

 

AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा- हाथरस में जो हुआ वो बहुत दुखद है। यह हादसा क्यों हुआ, कैसे हुआ और क्यों वहां की सरकार सुरक्षा नहीं कर पाई। बड़े अफसोस की बात है। उम्मीद करते हैं कि जो घायल हैं उन्हें राहत पहुंचाई जाएगी और बाद में इसकी जांच की जाएगी।

डिंपल बोलीं-प्रशासन की विफलता की वजह से हुआ हादसा

 

डिंपल यादव ने कहा-ये पूरी तरह से शासन और प्रशासन की जिम्मेदारी थी कि यदि इतने बड़े स्तर पर कोई आयोजन हो रहा है तो सभी सुविधाएं पहुंचाई जाएं। लेकिन ये लोग कहीं न कहीं विफल रहे हैं और हर क्षेत्र में ये लोग विफल हो रहे हैं।

अखिलेश यादव ने कहा- सरकार आखिरकार क्या कर रही थी

 

अखिलेश यादव ने कहा- सरकार आखिरकार क्या कर रही थी? सरकार की जानकारी में होने के बावजूद इतनी बड़ी घटना होना बहुत दुखद है। उनकी सुरक्षा और व्यवस्था के लिए सरकार ने क्या किया ये सबसे बड़ा प्रश्न बनता है… जब तक आप किसी आयोजन पर शुरुआत से लेकर अंत तक ध्यान नहीं देंगे तो इसी तरह की घटना होगी। इसके लिए अगर कोई जिम्मेदार है तो वो सरकार है… हमें उम्मीद है कि सरकार घायलों का अच्छा इलाज करवाएगी।

राहुल बोले- सरकार को संवेदनशीलता के साथ मदद करनी चाहिए

 

हाथरस हादसे पर राहुल गांधी ने कहा- सरकार को संवेदनशीलता के साथ लोगों की मदद करनी चाहिए। मैं उन सभी परिवारों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं जिन्होंने प्रियजनों को खोया है।

About admin

Check Also

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा- भाजपा की कुर्सी की लड़ाई की गर्मी में उप्र में शासन-प्रशासन ठंडे बस्ते में चला गया है।

यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने मंगलवार की शाम दिल्ली में भारतीय जनता …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *