Breaking News

शराब नीति केस में 1 अप्रैल से तिहाड़ जेल में बंद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से जुड़ी तीन याचिकाओं पर ?

ED ने 21 मार्च को अरविंद केजरीवाल से करीब दो घंटे की पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार किया था। 1 अप्रैल से वे तिहाड़ जेल में बंद हैं। - Dainik Bhaskar
ED ने 21 मार्च को अरविंद केजरीवाल से करीब दो घंटे की पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार किया था। 1 अप्रैल से वे तिहाड़ जेल में बंद हैं।

शराब नीति केस में 1 अप्रैल से तिहाड़ जेल में बंद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से जुड़ी तीन याचिकाओं पर सोमवार को सुनवाई होगी। दिल्ली हाईकोर्ट में एक्टिंग CJ मनमोहन की कोर्ट में 2 मामले हैं। पहला- जमानत पर PIL, जिसे एक लॉ स्टूडेंट ने लगाया है। याचिका ‘वी द पीपल ऑफ इंडिया’ के नाम से दायर की गई है। दूसरा- केजरीवाल की गिरफ्तारी और रिमांड पर।

कोर्ट पहले PIL पर सुनवाई कर रहा है। केजरीवाल की तरफ से एडवोकेट राहुल मेहरा दलील रख रहे हैं। मेहरा ने कहा- सभी मामलों में असाधारण जमानत दें। ऐसी अपील कैसे की जा सकती है। इस तरह के मामले में आने वाला ये शख्स कौन है। यह पूरी तरह से पब्लिसिटी के लिए दायर की गई याचिका है। ऐसे हालात सही नहीं हैं।

इस पर याचिकाकर्ता के वकील ने कहा- मुख्यमंत्री की गिरफ्तारी से पूरी सरकार रुक गई है। वे सरकार के मुखिया हैं। कोर्ट ने कहा- राहुल मेहरा CM की ओर से पेश हुए हैं। उनका कहना है कि वे अपना काम कर रहे हैं। उन्हें आपसे कोई मदद नहीं चाहिए। आप कौन होते हैं उनकी मदद करने वाले? आपको वीटो शक्ति कैसे मिली? क्या आप संयुक्त राष्ट्र के सदस्य हैं?

कोर्ट ने इसके बाद याचिकाकर्ता को फटकार लगाते हुए 75 हजार का जुर्माना लगाया और जनहित याचिका यानी PIL खारिज कर दी।

दोपहर एक बजे तीसरी याचिका पर सुनवाई होगी
तीसरा मामला दिल्ली के राऊज एवेन्यू कोर्ट में स्पेशल जज कावेरी बावेजा सुनेंगी। केजरीवाल ने अपने डायबिटीज की रेगुलर जांच, डॉक्टर से कंसल्टेंशन और इंसुलिन की मांग को लेकर यह याचिका लगाई है। इस पर दोपहर 1 बजे सुनवाई होगी।

ED ने 18 अप्रैल को राऊज एवेन्यू कोर्ट से कहा था कि जेल में केजरीवाल जानबूझकर आम और मिठाई खा रहे हैं, ताकि उनका शुगर लेवल बढ़े और उन्हें मेडिकल ग्राउंड पर जमानत मिल जाए। कोर्ट ने ED से इस पर जवाब मांगा है। इस पर आज फैसला आएगा।

अपडेट्स

14 मिनट पहले

कोर्ट रूम LIVE

कोर्ट: क्या आपकी दलीलें पूरी हो गई हैं?याचिकाकर्ता के वकील: हां।

कोर्ट ने PIL लगाने वाले पर 75 हजार का जुर्माना लगाया और एक्स्ट्रा ऑर्डिनरी अंतरिम बेल की याचिका खारिज कर दी।

17 मिनट पहले

कोर्ट रूम LIVE

कोर्ट: उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई है। ऐसा नहीं है कि उनकी तरफ से कोई नहीं है। वे अपना काम कर रहे हैं। हम जनहित याचिका के लिए न्यायिक आदेशों से अलग कैसे जा सकते हैं।

याचिकाकर्ता के वकील: CM फैसले लेने, रिव्यू करने या आदेश देने के लिए ही उपलब्ध नहीं है। पूरी दुनिया हम पर हंस रही है। जेल में उनकी सुरक्षा भी चिंता की बात है।

21 मिनट पहले

कोर्ट रूम LIVE

कोर्ट: लगता है पिछली बार लगाया गया जुर्माना काफी नहीं था। इसलिए लोग इस तरह की याचिकाएं लगाने से बाज नहीं आ रहे हैं।

मेहरा: शायद पाइपलाइन में कुछ और याचिकाएं भी हैं। वे इस मामले के फैसले का इंतजार कर रहे हैं।

याचिकाकर्ता के वकील: यह एक असाधारण मामला है। मैं उनका कार्यकाल पूरा होने तक अंतरिम राहत मांग रहा हूं। उनके पास 8 विभाग हैं।

24 मिनट पहले

कोर्ट रूम LIVE

कोर्ट: हमने कई बार कहा है कि निजी हित को राष्ट्र हित से नीचे रखना पड़ता है। लेकिन वह मुख्यमंत्री की निजी कॉल है। हम उन्हें सलाह देने वाले कोई नहीं हैं। वह अदालत के आदेशों पर हिरासत में हैं। और मामला अब सुप्रीम कोर्ट में है।

कोर्ट: आप उनके लिए बॉन्ड और सिक्योरिटी देंगे। आप दावा कर रहे हैं वह किसी को प्रभावित नहीं करेगा। ये वादा करने वाले आप कौन होते हैं? यदि आप इस पर दबाव डालेंगे तो हम पिछले याचिकाकर्ता पर लगाए जुर्माने से ज्यादा आप पर जुर्माना लगाकर याचिका खारिज कर देंगे।

26 मिनट पहले

कोर्ट रूम LIVE

मेहरा: याचिकाकर्ता की अपील देखें। उनके (याचिकाकर्ता) पिता को न्याय सत्ता पार्टी का अध्यक्ष बनाया गया है। वह इसे राजनीतिक मंच बना रहे हैं।

कोर्ट: तो फिर हिरासत में कोई नहीं होना चाहिए। क्या आप इसी न्यायशास्त्र की वकालत कर रहे हैं। जिस याचिकाकर्ता ने जनहित याचिका लगाई है, वह कानून का छात्र है। क्या वह अपनी क्लासेस में मौजूद होता है? क्या उसकी अटेंडेंस अच्छी है?

27 मिनट पहले

कोर्ट रूम LIVE

याचिकाकर्ता के वकील: सीएम दवाओं की सप्लाई की परमिशन वाले दस्तावेजों पर साइन करने के लिए भी उपलब्ध नहीं हैं। मेरी याचिका मुख्यमंत्री को राहत देने के लिए नहीं है। मेरी चिंता सिर्फ दिल्ली के लोगों को लेकर है।

याचिकाकर्ता के वकील: आज तक यह तय नहीं हो पाया है कि वह दोषी हैं। पिछले तीन दिनों से ट्रायल कोर्ट यह तय कर रहा है कि वे क्या खा सकते हैं और क्या नहीं।

33 मिनट पहले

कोर्ट रूम LIVE

याचिकाकर्ता के वकील: यह एक असाधारण केस है। हम यहां केजरीवाल को सलाह देने के लिए नहीं आए हैं।

कोर्ट: यह असाधारण नहीं है, कानून हर एक के लिए बराबर है।

35 मिनट पहले

कोर्ट रूम LIVE

याचिकाकर्ता के वकील: मैंने आदेश पढ़ा है कि सरकारी अस्पतालों में दवाएं उपलब्ध नहीं हैं। यह मेरा सवाल और मेरी असली चिंता है। मुझे कोई पब्लिसिटी नहीं चाहिए इसलिए मैंने अपना नाम नहीं बताया। मेरी पार्टी किसी भी चुनाव में भाग नहीं ले रही है। मेरी चिंता केवल यही है कि दिल्ली के 3 करोड़ लोग जिनमें 1.59 करोड़ लोग रजिस्टर्ड वोटर्स हैं, उनके बच्चों की शिक्षा और चिकित्सा का क्या होगा?

36 मिनट पहले

कोर्ट रूम LIVE

कोर्ट: वह सज्जन (केजरीवाल) कोर्ट के आदेश पर न्यायिक हिरासत में हैं।

मेहरा: मेरे पास वैधानिक उपाय हैं।

याचिकाकर्ता के वकील: मुख्यमंत्री की गिरफ्तारी से पूरी सरकार रुक गई है। वे सरकार के मुखिया हैं।

मेहरा: इस अदालत ने तीन मामलों का फैसला किया है। ताजा आदेश में जुर्माना लगाया गया है। उन्हें आदेश पढ़ना चाहिए।

43 मिनट पहले

कोर्ट रूम LIVE

ACJ मनमोहन: वे (राहुल मेहरा) सीएम की ओर से पेश हुए हैं। उनका कहना है कि वे अपना काम कर रहे हैं। उन्हें आपसे कोई मदद नहीं चाहिए। आप कौन होते हैं उनकी मदद करने वाले? आपको वीटो शक्ति कैसे मिली? क्या आप संयुक्त राष्ट्र के सदस्य हैं?

ACJ मनमोहन: अगर आपने उसे रिहा करने का फैसला कर ही लिया है तो फिर आप यहां क्यों हैं? आप संयुक्त राष्ट्र हैं, आप यहां क्यों आए हैं? वह (केजरीवाल) आपसे कोई मदद नहीं चाहते।

याचिकाकर्ता के वकील- मेरे पास यहां आने के अलाव और कोई रास्ता नहीं बचा था।

44 मिनट पहले

कोर्ट रूम LIVE

मेहरा: सभी मामलों में असाधारण जमानत दें। ऐसी अपील कैसे की जा सकती है। इस तरह के मामले में आने वाला ये शख्स कौन है। यह पूरी तरह से पब्लिसिटी के लिए दायर की गई याचिका है। ऐसे हालात सही नहीं हैं।

याचिकाकर्ता के वकील: मेरा सवाल यह है कि प्रश्न यह है कि भारत क्या है? क्या ये ज़मीन, सड़कें और नदी भारत हैं? मेरी अपील में संविधान की प्रस्तावना के अनुसार, मैं भारत हूं।

ACJ मनमोहन: आप भारत हैं?

वकील: हम नागरिक ही भारत हैं।

11:18 AM22 अप्रैल 2024

तिहाड़ प्रशासन ने केजरीवाल के लिए डाइबिटोलॉजिस्ट अपॉइंट करने को कहा

तिहाड़ जेल के DG संजय बेनीवाल ने शनिवार 20 अप्रैल को AIIMS को चिट्ठी लिखी। इसमें दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के लिए एक सीनियर डाइबिटोलॉजिस्ट अपॉइंट करने को कहा गया है। इस लेटर को आम आदमी पार्टी (AAP) ने भी रविवार (21 अप्रैल) को शेयर किया।

11:17 AM22 अप्रैल 2024

आतिशी का आरोप- केंद्र सरकार केजरीवाल को मारने की साजिश कर रही

रविवार को दिल्ली की मंत्री आतिशी तिहाड़ जेल के सामने इंसुलिन लेकर पहुंचीं। उन्होंने केंद्र सरकार को ब्रिटिश राज से ज्यादा क्रूर बताया। इससे पहले आतिशी ने आरोप लगाया था कि केंद्र सरकार केजरीवाल को मारने की साजिश कर रही है।

10:49 AM22 अप्रैल 2024

केजरीवाल की पत्नी बोलीं- जेल में केजरीवाल को मारना चाहते हैं

रांची में रविवार 21 अप्रैल को INDI गठबंधन की रैली हुई। इसमें अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता, पंजाब के सीएम भगवंत मान, झारखंड के सीएम चंपई सोरेन, नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव शामिल हुए। दिल्ली के सीएम की पत्नी सुनीता केजरीवाल ने कहा- केंद्र सरकार अरविंद केजरीवाल को मारना चाहती है। उन्हें जेल में सही दवा नहीं दी जा रही। अरविंद केजरीवाल और हेमंत सोरेन को जेल में डाल दिया गया। ये सरकार की तानाशाही को दर्शाता है।

10:49 AM22 अप्रैल 2024

आम आदमी पार्टी ने तिहाड़ प्रशासन की ये चिट्ठी शेयर की है

10:48 AM22 अप्रैल 2024

21 मार्च को केजरीवाल की गिरफ्तारी हुई थी

10:47 AM22 अप्रैल 2024

सरकार का झूठ उजागर हो गया है: AAP

AAP नेता सौरभ भारद्वाज ने बताया कि तिहाड़ जेल की रिपोर्ट झूठ का पुलिंदा है। सबसे पहले केजरीवाल की शुगर को बेतरतीब ढंग से मापा गया। जब भी शुगर लेवल कम हुआ है, रिपोर्ट में केवल वही रिकॉर्ड है। ये अरविंद केजरीवाल को मारने की साजिश है। अरविंद केजरीवाल बार-बार जेल प्रशासन से इंसुलिन मांग रहे हैं, लेकिन वे इसे देने के लिए तैयार नहीं हैं।

केंद्र सरकार कहती रही कि केजरीवाल की देखभाल के लिए जेल में एक विशेषज्ञ मौजूद है। तिहाड़ DG के एम्स को डायबिटोलॉजिस्ट भेजने के लिए चिट्‌ठी लिखने के बाद उनका झूठ उजागर हो गया है।

10:47 AM22 अप्रैल 2024

सुनीता केजरीवाल की अपील पर करवाई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग

केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल की अपील पर तिहाड़ जेल प्रशासन ने वीडियो कॉन्फ्रेंस करवाई। इसमें अस्पताल के एक सीनियर डॉक्टर के अलावा तिहाड़ के चिकित्सा अधिकारी भी मौजूद थे। न्यूज एजेंसी PTI के मुताबिक एक जेल अधिकारी ने बताया कि 40 मिनट की सलाह के बाद केजरीवाल को आश्वासन दिया गया कि कोई गंभीर चिंता नहीं है। उन्हें दवाएं जारी रखने की सलाह दी गई। इसकी रेगुलर जांच की जाएगी।AIIMS विशेषज्ञ को सीजीएम (ग्लूकोज मॉनिटरिंग सेंसर) का पूरा रिकॉर्ड, केजरीवाल का फूड चार्ट और दवाओं की डिटेल दी गई थी। जेल अधिकारी का कहना है कि इंसुलिन का मुद्दा केजरीवाल ने नहीं उठाया था और न ही डॉक्टरों ने इसका सुझाव दिया था।

10:47 AM22 अप्रैल 2024

केजरीवाल की डायबिटीज पर मेउिकल एक्स्पर्ट्स क्या बोले

10:46 AM22 अप्रैल 2024

4 पॉइंट्स में समझें केजरीवाल की डायबिटीज का मामला

  1. केजरीवाल को टाइप-2 डायबिटीज है। वे शराब घोटाला मामले में तिहाड़ जेल में 20 दिन से बंद हैं। राउज एवेन्यू कोर्ट ने उन्हें 23 अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में भेजा है। साथ ही उन्हें घर का खाना खाने की परमिशन भी दी है।
  2. 18 अप्रैल को केजरीवाल के वकील विवेक जैन ने ट्रायल कोर्ट में एक याचिका दाखिल कर केजरीवाल के डॉक्टर से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मेडिकल कंसल्टेशन लेने की मांग की थी। उन्होंने तर्क दिया था कि केजरीवाल टाइप-2 डायबिटीज के मरीज हैं और उनका ब्लड शुगर लेवल ऊपर-नीचे (Fluctuate) होता रहता है।
  3. इसके जवाब में ED ने राउज एवेन्यू कोर्ट को बताया कि केजरीवाल तिहाड़ जेल में जानबूझकर मीठा खा रहे हैं, ताकि इससे उनका शुगर लेवल बढ़ जाए और उन्हें मेडिकल के आधार पर जमानत मिल जाए। केजरीवाल के घर से ऐसा ही खाना आ रहा है, जिसमें शुगर और कॉर्ब्स की मात्रा ज्यादा रहती है।
  4. राउज एवेन्यू कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखा है। अब उनकी इंसुलिन और डॉक्टर से परामर्श की अपील पर 22 अप्रैल को फैसला आएगा।
10:45 AM22 अप्रैल 2024

जेल आने से महीनों पहले छोड़ दी थी इंसुलिन

तिहाड़ के अफसर ने शनिवार 20 अप्रैल को दावा किया कि केजरीवाल जेल आने के महीनों पहले इंसुलिन लेना बंद कर चुके थे। वे (केजरीवाल) सामान्य एंटी-डायबिटीज दवा मेटफॉर्मिन खाते हैं। ये रिपोर्ट दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना को सौंपी गई है। तिहाड़ जेल ने दिल्ली के मंत्री आतिशी के बयान के बाद ये जवाब दिया है।

आतिशी ने कहा था- भाजपा के इशारे पर केजरीवाल को जेल में मारने की साजिश हो रही है। केजरीवाल 12 साल से इंसुलिन ले रहे हैं। तिहाड़ प्रशासन को उन्हें इंसुलिन देने में आखिर क्या समस्या है? आतिशी ने ये भी कहा था कि केजरीवाल जेल जाने से पहले से रोज 50 यूनिट इंसुलिन लेते हैं।

10:45 AM22 अप्रैल 2024

ED का आरोप- केजरीवाल जानबूझकर आम-मिठाई खा रहे:ताकि ब्लड शुगर बढ़े और जमानत मिले; आतिशी बोलीं-वे रोज 54 यूनिट इंसुलिन लेते हैं

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने गुरुवार 18 अप्रैल को बड़ा आरोप लगाया। ED ने राउज एवेन्यू कोर्ट में कहा कि वह तिहाड़ जेल में जानबूझकर मीठा खा रहे हैं, ताकि इससे उनका शुगर लेवल बढ़ जाए और उन्हें मेडिकल के आधार पर जमानत मिल जाए।

ईडी ने कहा कि केजरीवाल को टाइप-2 डायबिटीज है, लेकिन वह जेल में आलू पूड़ी, आम और मीठा खा रहे हैं। केजरीवाल शराब घोटाला मामले में तिहाड़ जेल में 18 दिन से बंद हैं। कोर्ट ने उन्हें घर का खाना खाने की अनुमति दी है।

About admin

Check Also

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बैंच ने जनहित याचिका पर सुनवाई के बाद एक अपार्टमेंट व एक होटल के अवैध निर्माण ?

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बैंच ने जनहित याचिका पर सुनवाई के बाद एक अपार्टमेंट व …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *