Breaking News

कानपुर चौबेपुर के रुद्रपुर बैल गांव में दो वर्गों में संघर्ष के बाद तनाव कम होने का नाम नहीं ले रहा है। गांव के माहौल को देखते हुए पीएसी, पुलिस फोर्स और ?

कानपुर में तैनात पुलिस फोर्स और पीएसी। (यह तस्वीर पुलिस ने ड्रोन से निगरानी के दौरान ली है।) - Dainik Bhaskar
कानपुर में तैनात पुलिस फोर्स और पीएसी। (यह तस्वीर पुलिस ने ड्रोन से निगरानी के दौरान ली है।)

कानपुर चौबेपुर के रुद्रपुर बैल गांव में दो वर्गों में संघर्ष के बाद तनाव कम होने का नाम नहीं ले रहा है। गांव के माहौल को देखते हुए पीएसी, पुलिस फोर्स और पुलिस व प्रशासनिक कैंप कर रहे हैं। रैली के दौरान उत्तेजक नारेबाजी को लेकर दोनों वर्गों में संघर्ष हुआ था।

बवाल इतना बढ़ गया कि दोनों पक्षों से 16 लोग घायल हुए। इसके बाद चौबेपुर थाने में दोनों पक्षों से 31 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई और 14 बवालियों को जेल भेजा गया।

पुलिस और पीएसी का गांव में पहरा, ड्रोन से निगरानी

डीसीपी वेस्ट विजय ढुल ने बताया कि चौबेपुर के रुद्रपुर बैल गांव में तनाव के माहौल को देखते हुए पीएसी, पुलिस फोर्स और एडीसीपी व एसीपी कैंप कर रहे हैं। इलाके में निगरानी के लिए ड्रोन का भी इस्तेमाल किया जा रहा है।

इसके साथ ही महिला और पुरुष पुलिस अफसरों को गांव में भेजकर युवाओं को मोटीवेट किया जा रहा है। एसीपी कर्नलगंज महेश कुमार और कई महिला दरोगा व इंस्पेक्टर को गांव भेजा गया है। इससे कि दोबारा गांव में तनाव की स्थिति पैदा नहीं हो।

जेल भेजे गए दोनों पक्षों से 14 बवाली।
जेल भेजे गए दोनों पक्षों से 14 बवाली।

वहीं, दूसरी तरफ घायलों का बेहतर इलाज हैलट में चल रहा है। दोनों पक्षों से 14 बवालियों को अरेस्ट करके जेल भेज दिया गया है। अन्य की पहचान के लिए मौके के वायरल फोटो-वीडियो से शिनाख्त का प्रयास किया जा रहा है। डीसीपी वेस्ट ने बताया कि माहौल बिगाड़ने की कोशिश करने वाले एक-एक पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

आइए आपको बताते हैं गांव में कैसे बिगड़ा माहौल

चौबेपुर थाना क्षेत्र के रुद्रपुर बैल गांव में रहने वाला सचिन कुरील गांव के कुछ लोगों के साथ शिवराजपुर एक राजनैतिक पार्टी की रैली में गए थे। वहां से गांव लौटने के दौरान भी सचिन और उनके साथियों ने अंबेडकर प्रतिमा का माल्यार्पण किया और एक जाति विशेष पर अमर्यादित नारेबाजी शुरू कर दी।

इससे दूसरे वर्ग के लोग भी आक्रोशित हो उठे और विरोध किया। इसके बाद बात इतना बढ़ गई कि दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर गाली-गलौज करते हुए नारेबाजी शुरू कर दी। इसके बाद दोनों पक्षों में लाठी-डंडे से मारपीट शुरू हो गई।

जमकर पथराव हुआ। दोनों वर्गों के संघर्ष में 16 लाेग घायल हो गए। जिसमें पांच लोगों को गंभीर चोट आई और एक की हालत नाजुक हैं। जिसे हैलट में एडमिट कराया गया है।

दोनों पक्षों से जेल भेजे गए 14 बवाली।
दोनों पक्षों से जेल भेजे गए 14 बवाली।

क्रॉस एफआईआर और 14 लाेग भेजे गए जेल

बवाल के बाद गांव के सचिन कुरील की तहरीर पर दूसरे पक्ष के राकेश, अशोक दुबे, लाल सिंह, रंजन शुक्ला, शिवा अवस्थी, लाल जी, बउआ गुप्ता, जय सिंह, अमित शुक्ला, सुमित शुक्ला, नीरज, रौनक सविता, अगम, संजय सेंगर और निहाल सेंगर समेत 15 लोगों के नामजद और कई अज्ञात के खिलाफ एससी/एसटी एक्ट, बलवा, मारपीट, जानलेवा हमला समेत अन्य गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है।

वहीं दूसरे पक्ष से अशोक दुबे की तहरीर पर सचिन कुरील, विकास, अतुल, श्याम बाबू, ऋषि, विमल, अनुज, आकाश, होरीलाल, कल्लू, अंकित, रामपाल, प्रमोद, अरुण और अभिषेक समेत अन्य अज्ञात के खिलाफ बलवा, मारपीट, जान से मारने की धमकी देने समेत अन्य गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है।

ये लोग भेजे गए जेल

सचिन कुरील, आशीष, अभिषेक, शोभित, अंकित, ऋषि, अतुल, अशोक दुबे, संजय, शिवा अवस्थी, नारायण सिंह, शिवम दुबे, रौनक और नीरज को अरेस्ट करके जेल भेजा गया है। अन्य आरोपियों की शिनाख्त की जा रही है। इसके साथ ही जिनकी शिनाख्त हो गई उनकी अरेस्टिंग के लिए पुलिस ताबड़तोड़ दबिश दे रही है।

About admin

Check Also

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बैंच ने जनहित याचिका पर सुनवाई के बाद एक अपार्टमेंट व एक होटल के अवैध निर्माण ?

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बैंच ने जनहित याचिका पर सुनवाई के बाद एक अपार्टमेंट व …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *