Breaking News

लखनऊ में सीएम योगी से एक युवती और उसकी मां ने न्याय की गुहार लगाई है।

लखनऊ में सीएम योगी से एक युवती और उसकी मां ने न्याय की गुहार लगाई है। युवती की उम्र 23 साल है। उसका कहना है कि कुछ दिन पहले ननिहाल के कुछ युवकों ने उससे गैंगरेप किया और ट्रेन के टॉयलेट में छोड़ दिया। हाथ-पैर भी बांध दिए। उसकी कहीं सुनवाई नहीं हो रही है। उसने कहा- अगर इंसाफ नहीं मिला तो वह आत्महत्या कर लेगी।

फिलहाल पीड़िता लखनऊ के हिंदू महासभा आश्रम में रुकी हुई है। उसका कहना है कि आरोपियों से जान का खतरा है। युवती का दावा यह भी है कि उसके पास अवैध हथियार बेचने और मदरसे में पढ़ने वाली नाबालिग लड़कियों के साथ रेप किए जाने के भी सबूत हैं। वह अपनी मां के साथ सीएम से मिलने जनता दर्शन कार्यक्रम में पहुंची थी। वह अपने आप को फैशन डिजाइनर बताती है।

पीड़िता की पूरी आपबीती, उसी के हवाले से-

’13 मार्च की रात मुझे इम्तियाज हुसैन, इरफान हुसैन, अफसर हुसैन, इसरार हुसैन ने कचहरी से किडनैप कर लिया। जबरदस्ती अपनी स्कॉर्पियो में बैठाया। बेल्ट से पिटाई की। हाथ-पैर बांध कर निर्वस्त्र कर दिया। फिर सभी ने गैंग रेप किया। इसके बाद बोरी में पैक कर ट्रेन से कहीं ले गए। हम किस ट्रेन में थे, इसकी जानकारी नहीं है।

जब ट्रेन चल दी तो टॉयलेट में ले गए। यहां बोरी खोली फिर सभी टॉयलेट में ही बारी-बारी से दुष्कर्म किया। मैं चीखी-चिल्लाई तो मुंह में कपड़ा बांध दिया। कई यात्रियों ने वॉशरूम का गेट खटखटाया, लेकिन गेट अंदर से लॉक था।

कुछ देर बाद लोगों की हलचल बढ़ने लगी तो मौका पाकर आरोपी ट्रेन से कूदकर भाग गए। लोगों की मदद से मुझे पहनने के लिए कपड़े मिले। पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पहुंची तो हिंदू महासभा का सहयोग लिया। दिल्ली में 21 मार्च को एफआईआर दर्ज कराई। बाद में FIR रामपुर ट्रांसफर की गई। लगभग चार महीने हो गए, लेकिन अभी तक इंसाफ के लिए भटक रही हूं, कोई सहायता नहीं मिल रही।’

पीड़िता के हाथ पैर बांध कर आरोपियों ने वारदात को दिया अंजाम।
पीड़िता के हाथ पैर बांध कर आरोपियों ने वारदात को दिया अंजाम।

मेडिकल रिपोर्ट में गैंगरेप की पुष्टि

दिल्ली पुलिस के पास जब महिला ने FIR दर्ज कराई तो पुलिस ने उसका अरुणा आसफ अली हॉस्पिटल में मेडिकल कराया। रिपोर्ट आने पर डॉक्टरों ने रेप की पुष्टि की। इसके बाद दिल्ली पुलिस ने यह केस उत्तर प्रदेश पुलिस को ट्रांसफर कर दिया। पीड़िता का आरोप है कि आरोपियों ने इस पर कोर्ट से स्टे ले लिया। अब स्टे का टाइम खत्म हो गया है फिर भी पुलिस एक्शन नहीं ले रही है।

दिल्ली पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल अरुणा आसफ अली हॉस्पिटल में कराया था।
दिल्ली पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल अरुणा आसफ अली हॉस्पिटल में कराया था।

फैशन डिजाइनर है पीड़िता

युवती अपने मामा के घर मुरादाबाद में पली-बढ़ी है। यहीं के मदरसे से पढ़ाई भी की है। 3 साल से मुम्बई में रह रही है। यहां मेक अप आर्टिस्ट ​और फैशन डिजाइनिंग का काम करती है।​​​​​​

रेप पीड़िता ने सीएम योगी के जनता दर्शन में पहुंचकर सुनाई पीड़ा।
रेप पीड़िता ने सीएम योगी के जनता दर्शन में पहुंचकर सुनाई पीड़ा।

किडनैप और गैंगरेप की असल वजह

पीड़िता का कहना है कि इस विवाद की असल उसके ननिहाल मुरादाबाद से जुड़ी है। यहां गांव में उसे 350 बीघा जमीन विरासत में मिली है। जमीन पर कब्जे के लिए गांव के लड़के इम्तियाज हुसैन, इरफान हुसैन, इसरार हुसैन और अफसर हुसैन ने उसकी मां को भी 14 साल तक बंधक बना कर रख चुके हैं। पीड़िता का कहना है कि यहां स्थित मस्जिद में अवैध गतिविधि भी होती है। मस्जिद के इमाम अवैध हथियार बेचने का धंधा करता है। जिसका मेरे पास वीडियो भी है।

पीड़िता द्वारा दिल्ली पुलिस के पास पहली FIR दर्ज कराई गई थी।
पीड़िता द्वारा दिल्ली पुलिस के पास पहली FIR दर्ज कराई गई थी।

मस्जिद में लड़कियों के साथ होता है गलत काम

पीड़िता का कहना है कि हम दर-दर की ठोकर खा रहे हैं और आरोपी बाहर घूम रहे हैं। वह हमें दिन-रात जान से मारने की धमकी देते हैं। यदि इन आरोपियों को जल्द गिरफ़्तार नहीं किया गया तो वो अपनी जान दे देगी। उसका आरोप है कि अवैध हथियार बेचने वाले मदरसे और मस्जिद में नाबालिग लड़कियों के साथ गलत काम भी करते हैं। मेरे पास इसके सबूत भी हैं।

About admin

Check Also

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा- भाजपा की कुर्सी की लड़ाई की गर्मी में उप्र में शासन-प्रशासन ठंडे बस्ते में चला गया है।

यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने मंगलवार की शाम दिल्ली में भारतीय जनता …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *